FACT CHECK: प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता योजना 2021 के अंतर्गत क्या मिल रहा 3500 रुपये का भत्ता, जानिए वायरल मैसेज का सच?

डिजिटल डेस्क। FACT CHECK: कोरोना संकट के इस दौर में इंटरनेट प्रयोग पिछ्ले दिनों की तुलना में तेज़ी से बढ़ा है। इसका फ़ायदा उठा साईबर अपराधी लोगो को तरह तरह के प्रलोभन दे कर वेबसाईट के माध्यम से उनकी निजी जानकारी को एकत्र कर रहे है। यही वजह है की आजकल ऑनलाइन फ्रॉड (Online Froud) तेजी से बढ़ रहे हैं। इससे पहले कि आप भी कहीं ऑनलाइन ठगी का शिकार न हो जाएं ये खबर आपके काम की हो सकती है। अगर आपने धोखे से भी इन वेबसाइट का उपयोग किया है तो सावधान हो जाएं। 

इन दिनों व्हाट्सएप (WhatsApp) समेत अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर एक वायरल मैसेज (Viral Message) तेजी से शेयर किया जा रहा है। इस वायरल मैसेज में युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही जा रही रहीं। वायरल मैसेज के अनुसार प्रधानमंत्री बेरोजगार भत्ता योजना 2021 (Pradhanmantri Berojgar Bhatta Yojana 2021) नाम की योजना के तहत प्री-रजिस्ट्रेशन हो रहा है, दावा किया जा रहा है की योजना के अंतर्गत सभी युवा बेरोजगारों को 3500 रुपये हर महीने का भत्ता दिया जाएगा। जिसका आवेदन शुल्क निशुल्क बताया जा रहा है योग्यता – 10वी पास, आयु – 18 से 40 वर्ष एवं रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि – 27 मई 2021 को बताई गई है। मैसेज के अनुसार प्री-रजिस्ट्रेशन करने के लिए एक लिंक उपलब्ध कराई गई है जिस पर क्लिक कर अपना फॉर्म भर सकते है। 

क्या है वायरल मैसेज का सच?

वायरल मैसेज में किए गए दावे के अनुसार जब हमने इस सम्बंध में सरकारी आदेशों व योजनाओं आदि की जानकारी इकट्ठा कर हमने Fact Check कर यह जाना की वर्तमान में ऐसी किसी भी योजना को सरकार द्वारा नही लाया गया है ना इस पर कोई आधिकारिक सूचना है। वायरल मैसेज को प्रेस इनफॉर्मेशन ब्यूरो (पीआईबी) की स्पेशल फैक्ट चेक टीम ने भी फैक्ट चैक किया। 

pm berojgar bhatta yojana 2021

जिसमे पीआईबी ने ऐसे वायरल दावे को गलत बताया और कहा की “साइबर अपराधी इस महामारी का इस्तेमाल, मासूम और अनभिज्ञ लोगों को फर्जी रोजगार भत्ता की पेशकश कर, ठगने के अवसर के रूप में इसका उपयोग कर रहे है। लोगों को “प्रधानमंत्री बेरोजगारी भत्ता योजना” जैसी नकली वेबसाइटों में पंजीकरण करा कर या एसएमएस , ईमेल या अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से फर्जी पंजीकरण अनुरोध भेजा जा रहा है। 

Beware of fake employment allowance registration: pic.twitter.com/dYNJjcAIED

— Cyber Dost (@Cyberdost) May 21, 2021

पीआईबी की फैक्ट चैक टीम ने लोगो को सावधान करते हुए इन नकली वेबसाइटों से सतर्क रहने और किसी भी कारण से संदिग्ध होने पर अनजान कॉल, संदेश या ईमेल आदि का जवाब न देने और अपनी व्यक्तिगत जानकारी साझा न करने की अपील की है। 

“बेरोजगारी भत्ता योजना” धोखाधड़ी : सावधान रहें pic.twitter.com/4v4vlerzpA

— Cyber Dost (@Cyberdost) May 21, 2021

आपको बता दें कि, भारत सरकार ने भी PIB Fact Check नाम का एक टूल जारी किया हुआ है। यह यूजर्स को यह जानकारी देता है कि उन्हें जो फोटो, डॉक्यूमेंट्स आदि मिले हैं वो फर्जी हैं या असली हैं। इस प्रकार के टूल से आपको उसकी सत्यता की पहचान करने में मदद मिलती है। पीआईबी भ्रामक खबरों के खिलाफ एक्शन लेता है और आम जनता को सतर्क करता है। इसके अलावा सोशल मीडिया पर वायरल होने वाले मैसेज की भी सच्चाई की जांच करता है। इससे पहले पीआईबी ने फर्जी कोरोना वैक्सीन के नाम पर रजिस्ट्रेशन की कई फर्जी वेबसाइट को लेकर लोगों का आगाह किया है। 

आप भी वायरल पोस्ट का करवा सकते हैं फैक्ट चेक

अगर आपको भी कोई ऐसा मैसेज मिलता है या किसी वायरल पोस्ट पर संदेह हो तो फिर उसको पीआईबी के पास फैक्ट चेक के लिए https://factcheck.pib.gov.in/ अथवा वॉट्सऐप नंबर +918799711259 या ईमेलः pibfactcheck@gmail.com पर भेज सकते हैं। यह जानकारी पीआईबी की वेबसाइट https://pib.gov.in पर भी उपलब्ध है।

FACT Check रिक्वेस्ट करने से पहले आपको पास इन चीजों का होना जरूरी है:

सबसे पहले एक ईमेल एड्रेस होना चाहिए। एक अच्छी इंटरनेट कनेक्टिविटी होनी चाहिए। समाचार के लिए रेफरेंस मटेरियल जैसे वॉट्सऐप मैसेज स्क्रीनशॉट, वॉयस रिकॉर्डिंग और अन्य चीजें होनी चाहिए।

 

पूरी स्टोरी पढ़िए...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button