ज्योतिरादित्य सिंधिया ने की शिवराज सिंह चौहान की तारीफ, कहा मेरे लिए आज भावुक दिन इतने बड़े स्वागत के लिए धन्यवाद्

Jyotiraditya Scindia bhopal

भोपाल : ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा में शामिल होने के बाद आज पहली बार भोपाल पहुंचे। यहां पहुंचने के बाद सिंधिया ने शहर में रोड शो किया। 
शाम 5 बजे से एयरपोर्ट  शुरू हुआ 20 किलोमीटर लंबा रोड शो 6.30 बजे भाजपा कार्यालय पहुंचा। यहां उन्होंने दीनदयाल उपाध्याय, कुशाभाऊ ठाकरे, राजमाता सिंधिया और माधवराव सिंधिया की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण किया।

भाजपा कार्यालय में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सिंधिया का स्वागत किया। वे भाजपा कार्यालय में ही कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे हैं। इसके बाद वे ग्वालियर-चंबल संभाग से आए अपने समर्थकों से मुलाकात करेंगे। रोड शो के दौरान जिला कांग्रेस कार्यालय के दफ्तर के पास कांग्रेसियों ने उनके खिलाफ नारेबाजी विरोध प्रदर्शन किया ।

वहीं भाजपा कार्यालय में अपने संबोधन में सिंधिया  ने कहा है कि जनता के दिल में स्थान पाना मेरा लक्ष्य है। जहां आपका एक बूंद पसीना टपकेगा, वहां सिंधिया का 100 बूंद पसीना टपकेगा और अगर खून की भी जरूरत होगी तो सिंधिया आपके लिए हाजिर है।

कमलनाथ पर बोला हमला

सीएम कमलनाथ पर हमला बोलते हुए सिंधिया ने कहा कि जब मैंने अतिथि विद्वानों की बात उठाई, किसानों की बात उठाई, कहा कि अगर वचन पत्र के मुद्दे पूरे नहीं हुए तो सड़क पर उतरूंगा तो मुझे कहा गया, उतर जाओ। जब सिंधिया परिवार को ललकारा जाता है तो वह चुप नहीं रहता है।

आगे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि पक्ष और विपक्ष में कभी मतभेद नहीं होना चाहिए। शिवराज सिंह हमेशा जनता के समर्पित और जनता के प्रति सब कुछ न्योछावर करने वाला कार्यकर्ता शायद बिरला ही रहा हो। कई लोग कहेंगे कि सिंधिया जी आज  क्यों कह रहे हैं, मैंने खुले में भी यह बात कही है। मैं संकोच करने वाला शख्स नहीं हूं।
सिंधिया ने कहा कि शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया अब एक हैं। इसलिए अब दो नहीं होना चाहिए। मेरा लक्ष्य अब प्रदेश की जनता का साथ पाना है। ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने मोदी को यशस्‍वी प्रधानमंत्री बताते हुए अमित शाह का भी जिक्र किया और बोले इनके आशीर्वाद से मेरे लिए भाजपा में प्रवेश के द्वार खोले गए।

आगे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि कुछ लोगों का मकसद राजनीति होती है, माध्यम जनसेवा होती है। लेकिन यह मैं दावे से कह सकता हूं कि अटल बिहारी वाजपेयी हों, नरेंद्र मोदी हों, राजमाता रही हों, या सिंधिया परिवार का वर्तमान मुखिया होने के नाते मैं, हमारा मकसद सिर्फ जनसेवा ही रही है।

आगे ज्योतिरादित्य सिंह ने कहा कि मेरे लिए आज भावुक दिन है। जिस संगठन और जिस परिवार में मैंने 20 साल बिताए, मेरी मेहनत लगन, मेरे संकल्प जिनके लिए खर्च किया, उन सबको छोड़कर मैं अपने आपको आपके हवाले करता हूं।

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिवराज सिंह चौहन की भी तारीफ की, सिंधिया ने कहा कि शिवराज कभी न थकने वाले सीएम रहे हैं। ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने भोपाल में भाजपा कार्यालय में आयोजित स्‍वागत समारोह में अपने संबोधन में भाजपा नेताओं के साथ अपने संबंधों का उल्‍लेख किया।

भाजपा कार्यालय में आयोजित सिंधिया के स्‍वागत समारोह में शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आज का दिन विशेष है। उन्‍होंने कहा कि गौरवशाली और समृद्ध भारत के निर्माण के लिए भाजपा कार्यकर्ता राजनीति करते हैं। शिवराज ने भाजपा के पितृपुरुषों का उल्‍लेख करते हुए कहा कि मोदीजी के नेतृत्‍व में संकल्‍प पूरा हो रहा है।

बीजेपी कार्यालय में ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया का केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह ताेमर, पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष वीडी शर्मा आदि नेताओं ने स्‍वागत किया।

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ज्योतिरादित्य सिंधिया का स्वागत किया उनको बधाई दी

भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया जोरदार स्वागत किया सिंधिया शाम 4.50 बजे विशेष विमान से भोपाल पहुंचे। उनके साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर एवं नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव भी थे। 

एयरपोर्ट पर भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा, पूर्व मंत्री भूपेंद्रसिंह, नरोत्तम मिश्रा, यशोधरा राजे सिंधिया, भगवानदास सबनानी, विकास वीरानी एवं पूर्व महापौर आलोक शर्मा आदि ने उनकी अगवानी की। एयरपोर्ट के बाहर कार्यकर्ताओं का हुजूम लगा था। लाउंज से बाहर आते ही कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी। स्वागत के बाद एयरपोर्ट से ही रोड शो शुरू हुआ।

सिंधिया के रोड शो का एयरपोर्ट से लालघाटी तक जगह-जगह काफिला रोककर स्वागत किया गया। स्वागत में देरी को देखते हुए भाजपा प्रदेशाध्यक्ष शर्मा को छोड़कर केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर समेत सभी नेता अलग-अलग कार से प्रदेश कार्यालय रवाना हो गए। लालघाटी के बाद सिंधिया का सिर्फ दो स्थान पर स्वागत किया गया। इसके बाद वे सीधे भाजपा मुख्यालय पहुंच गए।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button