शिवराज का वादा दमोह की सबसे बड़ी ‘पानी की समस्या’ से दिला देंगे छुटकारा!

 

दमोह। दमोह जिले में आयोजित भाजपा की आम सभा में प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दमोह की जनता को कई बड़ी सौगात दी थी। जिसमे दमोह की लंबे समय से चली आ रही पानी की भी समस्या एक थी। दरअसल भाजपा के चुनावी सभा को सम्बोधित करते हुए सीएम शिवराज ने कमलनाथ पर जमकर निशाना साधा एवं जिले में सुचारू वा भविष्य की योजना से अवगत कराया।

सीएम शिवराज ने कहा कि जिन्होंने मध्य प्रदेश को अपने खून-पसीने से सींचा, मैं उन नेताओं के चरणों में नमन करता हूँ। कांग्रेस की सरकार 2018 में बनी। उनके पास बहुमत नहीं था, सरकार बैसाखियों पर थी। इस सरकार में जनकल्याण की बात नहीं होती थी, केवल वसूली की बात होती थी। 

कमलनाथ ‘पैसा नहीं न होने का रोते थे रोना’ :

सीएम शिवराज ने कहा कि कमलनाथ जी के समय में विकास की योजनाएं नहीं थी जनकल्याण की योजनाओं के लिए भी पैसा नहीं, वे केवल पैसा नहीं होने का रोना रोते रहते थे। मैं कहता हूं कि विकास की योजनाओं और जनकल्याण के लिए मेरे पास पैसो ही कमी नहीं है। कमलनाथ जी जब मुख्यमंत्री थे, तब विकास के सवाल पर उनका एक ही जवाब होता था, हमारे पास पैसे ही नहीं हैं! मैं आप सभी को कहता हूँ, मेरे पास विकास के लिए पैसों की कमी नहीं है।

कांग्रेस ने विकास को किया ठप :

सीएम ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधते हुए कहा था कि कांग्रेस को जब हार दिखती है, तो वे सारी मर्यादाओं को लांघ जाते हैं। कांग्रेस ने दमोह के विकास को ठप किया, हमने दमोह में विकास के यज्ञ को पुनः प्रारम्भ किया। न राहत के पैसे, न बीमा के पैसे, न कर्ज़माफी, न 0% ब्याज़ पर कर्ज़, किसानों को तरसा दिया था कांग्रेस ने! जितनी सड़कें भाजपा की सरकार ने दमोह और आसपास के क्षेत्रों में दी हैं, उतना कॉंग्रेस कभी नहीं दे पाती। बिजली की व्यवस्था भी हमने की है। 

सीएम शिवराज के दमोह की जनता से वादे:

तीन साल के अंदर दमोह ज़िले के हर घर में टोंटी लगाकर पीने का पानी मिल जाएगा। दमोह से लेकर टीकमगढ़ होते हुए झांसी तक सड़क का निर्माण होगा। 1600 करोड़ की लागत से दमोह के हर घर को बिजली से जोड़ दिया जायेगा, हर घर उजाला में  होगा। पिछले साल हमने गेहूँ उपार्जन के नए आयाम स्थापित किये। मैं सभी किसानों को आश्वस्त करता हूँ, इस साल भी सभी किसानों का एक-एक दाना यह भाजपा सरकार खरीदेगी!

यह भी पढ़ें: बांदकपुर के विकास में कोई कसर नहीं रहने दूंगा: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

दमोह में मेडिकल कॉलेज , फीस की चिंता मत करो:

मेरे मेधावी भांजे-भांजियों यदि तुम्हारे माता-पिता की वार्षिक आय 8 लाख से कम है, तो चिंता मत करना। केवल मन लगाकर पढ़ो। तुम्हारा प्रवेश इंजीनियरिंग, मेडिकल, आईआईएम आदि में हुआ, तो तुम्हारी फीस तुम्हारा मामा भरवायेगा। दमोह में मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए बजट में प्रावधान किया गया है, यह केवल हवा-हवाई बात नहीं है! हम सरकारी के साथ ही गैर-सरकारी क्षेत्र में रोज़गार के नए अवसर कैसे सृजित हों, इस ओर भी कार्य कर रहे हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button