BSP विधायक रामबाई के पति की गिरफ्तारी न होने पर सुप्रीम कोर्ट ने फिर लगाई एमपी पुलिस को फटकार!

chaurasia hatyakand news

मोह। हटा (Hatta) के बहुचर्चित देवेंद्र चौरसिया हत्याकांड मामले में आरोपी बसपा विधायक रामबाई सिंह के पति गोविंद सिंह परिहार को लेकर आज फिर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। इस सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने DGP के एफिडेविट को खारिज करते हुए, प्रदेश सरकार (MP Government) और प्रदेश के डीजीपी को फटकार लगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने अगली सुनवाई तक आरोपी गोविंद सिंह परिहार को गिरफ्तार करने के आदेश दिए हैं।


सुप्रीम कोर्ट ने कड़े शब्दों में कहा है कि यदि वह आरोपित को गिरफ्तार (Arrest) नहीं कर पा रहे हैं तो अब उन्हें कोई दूसरी एजेंसी तलाशनी होगी। शीर्ष कोर्ट ने डीजीपी को अगली पेशी 5 अप्रैल तक की देते हुए कहा कि वह तय तारीख तक आरोपित की गिरफ्तारी करें और उनके पास शपथ पत्र पेश करें।


आपको बता दें कि पथरिया विधानसभा सीट से बीएसपी विधायक रामबाई सिंह (Mla Rambai Singh) के पति गोविंद सिंह परिहार को दमोह जिले की हटा तहसील में कांग्रेस नेता देवेंद्र चौरसिया (Congress leader Devendra Chaurasia) की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी बनाया गया है। गोविंद सिंह परिहार पिछले कई दिनों से फरार है। पुलिस अधिकारी लगातार बैठक कर गोविंद सिंह परिहार को गिरफ्तार करने की रणनीति बना रहे हैं।


ये भी पढ़ें: BSP विधायक रामबाई ने कहा अगर उनके पति दोषी हुऐ, तो उनको फांसी पर लटका दूंगी!


लेकिन पुलिस और STF को अब तक सफलता हाथ नहीं मिली है, गोविंद सिंह पर 50 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया गया है. वहीं दमोह (Damoh) जिले के CSP अभिषेक तिवारी ने बताया कि फरार गोविंद की तलाश में पुलिस प की 20 टीमें लगाई गई हैं. पुलिस ने हटा में जगह-जगह बड़े पोस्टर भी चिपकाए हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button