दमोह शराब कारोबारी के घर इनकम टैक्स की दूसरे दिन की छापेमारी में मिले 9 करोड़ रुपए और बेनामी संपत्ति

INCOME TAX RAID IN DAMOH: दमोह के होटल और शराब कारोबारी शंकर राय और कमल राय के ठिकानों पर दूसरे दिन भी इनकम टैक्स विभाग (Income tax department) की ताबड़तोड़ कारवाई जारी रहीं। इस दौरान छापे में क़रीब 8 करोड़ रुपये नकद वहीं तीन किलोग्राम सोना सहित साढ़े पांच करोड़ के जेवरात गहने बरामद किए गए हैं। इसके अलावा पानी की टंकी के अंदर से क़रीब एक करोड़ रुपए मिले जिसे इनकम टैक्स की टीम ने सुखाए है। इसके अलावा सूद खोरी से जुड़े कागजाज भी जब्त किए गए हैं।

रिपोर्ट्स के अनुसार शराब कारोबारी राजा राय (Raja Rai) के यहां जबलपुर, सागर और छ्त्तीसगढ़ के आयकर अधिकारियों की टीम ने छापे की कार्रवाई। गुरुवार से यह कार्रवाई चल रही है और छापे की कार्रवाई में नोट गिनने की मशीन भी मंगाई गई क्योंकि छापे की कारवाई के दौरान मिली नगदी की मात्रा बेहद अधिक थी इसलिए नोट गिनने की मशीन मंगाई गई। करीब 9 करोड़ कैश और तीन किलोग्राम सोना भी मिला है। रात को आयकर अधिकारियों की टीम ने कई वाहनों में बड़ी-बड़ी पेटियों में दस्तावेजों को भरकर अपने ऑफिस पहुंचाया। करीब डेढ़ दर्जन पेटियां भरकर दस्तावेज राजा राय के यहां से ले जाए गए हैं।

इन ठिकानों पर हुई कार्रवाई :

आयकर विभाग ने राय बंधुओं के 12 ठिकानों पर कार्रवाई की। इसमें राय चौराहे पर इन सभी के आवासों के अलावा गैरेज, हटा ओवरब्रिज के समीप स्थित संजय राय के आवास, खुशबू बीयर बार, खुशबू रेसिडेंसी, राजमहल बीयर बार, हटा नाका व समन्ना के समीप पेट्रोल पंप सहित अन्य स्थान भी शामिल थे। ट्रांसपोर्ट और शराब कारोबारी शंकर राय व उनके भाइयों के 12 ठिकानों पर आयकर विभाग की कार्रवाई दूसरे दिन शुक्रवार को भी जारी रही। अब तक नौ करोड़ रुपये नकद और तीन किलो जेवरात जब्त किए गए हैं। वहीं, करोड़ों रुपयों की अघोषित संपत्ति के दस्तावेज भी बरामद किए गए हैं।



राय बंधुओं (Rai Brothers) के यहां से संपत्ति के जो दस्तावेज मिले हैं, उनमें अधिकतर संपत्ति दूसरों के नाम पर हैं। इनमें बस व महंगे चार पहिया वाहन तो शामिल हैं ही, शराब के एक समूह का ठेका भी कर्मचारी महेंद्र चौरसिया के नाम पर मिला है। महेंद्र इनके वाहनों में कंडक्टर है। आयकर विभाग के सूत्रों की मानें तो राय परिवार के सभी सदस्यों के नाम से शहर के 39 वार्डों में जो भी अचल संपत्ति है, उसकी जानकारी नगरपालिका से मांगी गई है।

10 हजार का ईनाम:

आयकर अधिकारियों (Income tax officers) ने राय परिवार से जुड़े सदस्यों के संबंध में किसी भी प्रकार की जानकारी उपलब्ध कराने वाले व्यक्ति के लिए 10 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की है।

राय बंधुओं की राजनीति मे बड़ी पैठ :

अगर राजनीतिक रूप से देखा जाए तो राय बंधुओं की कांग्रेस और भाजपा दोनों ही दलों में अच्छी खासी पैठ है। शंकर राय व नगर पालिका दमोह के अध्यक्ष के साथ साथ शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भी रह चुके हैं, वहीं उनके भाई कमल राय भाजपा की ओर से नगर पालिका परिषद दमोह के उपाध्यक्ष रहे हैं। राजा राय जिला कांग्रेस कमेटी में उपाध्यक्ष के पद पर पदस्थ हैं, इनके छोटे भाई धर्मवीर राय कांग्रेस में पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश पदाधिकारी हैं।

हथियारों का जखीरा बरामद:

वाहनों का बेड़ा मिला आइटी टीम को 28 बसें व 16 अन्य गाडियों के कागजात मिले हैं। जिन्हें जब्ती में लिया है। जिनके नंबर आइटी ने परिवहन विभाग को दिए गए हैं कि यह नंबर किसी अन्य नाम से ट्रांसफर नहीं होना चाहिए। वहीं, रायफल, पिस्टल व रिवाल्वर भी बरामद की गई है, जिनकी संख्या 9 बताई जा रही है। जिनमें एक राइफल, 6 पिस्टल व दो रिवाल्वर शामिल हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button