स्व-सहायता समूहों द्वारा तेयार गोबर से बनें दीये तथा पूजन सामग्री का आमजनों से उपयोग करने की कलेक्टर ने अपील की

 

collector tarun rathi


दमोह। कलेक्टर तरूण राठी ने कहा जिले मे स्व-सहायता समूहों की महिलाओ के द्वारा गोबर के दीपक और मूर्तिया बनाई जा रही हैं। उन्होंने कहा हम सब सकंल्प लें इस बार की दीपावली स्वदेशी दीपावली के रूप मे मनायेंगे, जिसमे मिट्टी से बनी चीजें एवं गोबर से बने विशेष रूप से दीए साथ ही मूर्तिया, हवन सामग्री, धूपबत्ती आदि का उपयोग करें और शीघ्र ही स्टाल कलेक्ट्रेट के आसपास शुरू किया जायेगा।

उन्होंने कहा स्टाल मे लोग आये हम अलग से जानकारी शेयर करेगें, लोग आये ओर समूह की महिलाओ का उत्साहवर्धन करें, ताकि ये महिलाए एक अच्छी परंपरा को जन्म देगी, यही मेरी सभी से अपील हैं।

collector tarun rathi


वहीं  जिले के ग्रामीण एवं दूर दराज के अंचलों से मिट्टी के दीपक (दीया) एवं प्रतिमायें तैयार कर ग्रामीणों द्वारा विक्रय हेतु बाजारों में लाये जाते है। इसी संबंध में कलेक्टर तरूण राठी ने जिले की सभी नगरीय निकायों एवं ग्राम पंचायतों को आदेशित किया है कि मिट्टी के दीये एवं प्रतिमाओं के विक्रय किये जाने हेतु आने वाले ग्रामीणों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो इसका पूर्ण ध्यान रखा जाये, उनसे किसी भी प्रकार के कर की वसूली नहीं की जाये।

उन्होंने निर्देशित किया है कि मिट्टी के दीये के साथ गोबर आदि  से बनाये गये दीये का अधिक से अधिक उपयोग को प्रोत्साहित करने हेतु व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जाये। आदेश का कड़ाई से पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाये।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button