निजी विद्यालयो की अत्यधिक दरों में बिक रही पुस्तकों को लेकर विद्यार्थी परिषद ने कलेक्टर को सोपा ज्ञापन

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद दमोह
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद दमोह जिला सयोंजक शिवेंद्र तिवारी 

दमोह | आज अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा निजी विद्यालय प्रबंधन की मनमर्जी के चलते नाम मात्र दुकानों पर निर्धारित दरों से अधिक पर पाठ्यक्रम पुस्तकों का विक्रय कलेक्टर महोदय को ज्ञापन सोपा गया। जिला सयोंजक शिवेंद्र तिवारी ने बताया कि शिक्षा सत्र 2020-2021 का शुभारंभ होने से निजी विद्यालय प्रबंधनों के द्वारा संचालित निर्धारित पाठ्यक्रम की पुस्तकों का विक्रय प्रारंभ हो चुका हैं। निजी विद्यालयो कि उक्त पुस्तकों का मूल्य निर्धारित मापदण्डों के आधार पर अत्यधिक हैं जो कि अनुचित हैं।

प्रतिवर्षनुसार निजी विद्यालयो के संचालित कोर्सेस की पुस्तकों का रेट अलग- अलग डर पर निर्धारित होता हैं। जिससे सामान्य परिवारों के छात्र एवं अभिभावकों को पुस्तकों का कार्य करना बहुत व्यथित करता हैं। वहीं जिला एसएफ़डी प्रमुख नीलेश राठौर ने कहा कि प्रतिवर्ष अनिश्चित मापदंड एवं मनमर्ज़ी के कारण विद्यालय प्रबंधनों एवं उनके द्वारा निर्धारित दुकानों के द्वारा कमीशनखोरी के चलते निर्धारित दुकानों पर पुस्तकों का विक्रय किया जा रहा हैं।

जिनमे निर्धारित मापदण्डों की अवहेलना की जा रही हैं। महोदय जी आग्रह हैं। कि उक्त विषय को संज्ञान में लेकर जांच कर दोषियों के विरूद्ध कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए। यदि जल्द से जल्द कार्यवाही नही की गई तो विद्यार्थी परिषद उग्र आंदोलन जैसे ठोस कदम उठाने के लिए विवश होगी जिसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी। जिसमे प्रमुख रूप से उपस्थित जिला एसएफएस प्रमुख रत्नेश रजक ,हरिओम सोनी की मौजूदगी रही।

दमोह जिले  से जुड़ी अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें और हमें  Google समाचार पर फॉलो करें।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button