दमोह कि जनता सबकुछ सहन कर सकती है पर सौदेबाजी नहीं, बांदकपुर में गरजे कमलनाथ

kamalnath damoh chunav

दमोह। कांग्रेस ने दमोह विधानसभा उपचुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक दी हैं इसी कड़ी में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ दूसरी बार दमोह दौरे पर आए हैं। कमलनाथ ने सबसे पहले बांदकपुर पहुंचकर जागेश्वरनाथ महादेव मंदिर के दर्शनकर पूजा-अर्चना की है।


उसके बाद बांदकपुर (Bandakpur) में आयोजित कार्यकर्ताओ और चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा कि एक बार फिर लोकतंत्र की हत्या की गई है। कमलनाथ (Kamalnath) ने कहा दमोह का मतदाता सबकुछ सहन कर सकता है पर सौदेबाजी सहन नहीं कर सकता। उन्होंने कहा मैं माफी मांगता हूं कि 2018 में कांग्रेस ने ऐसा उम्मीदवार चुना, जिसने दमोह और बुंदेलखंड को कलंकित किया है।


उन्होंने कहा कि बाबासाब अंबेडकर ने एक ऐसा संविधान बनाया, जो पूरे विश्व में प्रसिद्ध है। बाबासाब ने संविधान में प्रावधान रखा था कि किसी विधायक या सांसद का निधन होने पर ही उपचुनाव होगा, लेकिन बाबासाब अंबेडकर ने कभी ऐसा नहीं सोचा था कि सौदेबाजी के लिए उपचुनाव होगा।


कमलनाथ ने कहा कि 15 साल बाद कांग्रेस ने सरकार बनाई थी, लेकिन बीजेपी ने सौदेबाजी कर गिरा दी, उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड की जनता सबकुछ स्वीकार कर लेगी, गरीबी, कर्ज भी स्वीकार कर लेगी, पर सौदेबाजी की राजनीति स्वीकार नहीं करेगी। 


ये भी पढ़ें: ब्राह्मण वोटरों को लुभाने के बाद अब दलित वोटबैंक पर है बीजेपी और कांग्रेस की नजर


कांग्रेस की नजर ब्राम्हण वोटर्स पर:

आपको बता दें कि कांग्रेस ब्राम्हण वोटर्स को साधने कोशिश कर रही है, ताकि लोधी वोट ना भी मिले तो भी दूसरी जातियों के वोटों से जीत हासिल की जा सके वहीं राहुल सिंह की बांदकपुर में अच्छी पकड़ मानी जाती हैं, इसलिए कमलनाथ ने जागेश्वरनाथ महादेव मंदिर में जाकर पूजा अर्चना करते हुए बाद चुनावी सभा को संबोधित किया है।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button