दमोह उपचुनाव में हार के बाद भाजपा कि बड़ी कारवाई सिद्धार्थ समेत 5 को किया निलंबित, जयंत मलैया को भेजा नोटिस

bjp action on malaiya family

भोपाल। दमोह उपचुनाव में भाजपा की करारी हार के बाद पार्टी में अंदेशा लगाया जा रहा था की बीजेपी क्या मलैया परिवार पर कोई कार्यवाही करेगी। इस बीच भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा ने जयंत मलैया को नोटिस थमाते हुए सिद्धार्थ मलैया समेत 5 कार्यकर्ताओ को निलंबित करने की कार्यवाही की है। पार्टी के अनुसार दमोह विधानसभा उपचुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों में भाग लेने के कारण भारतीय जनता पार्टी ने दमोह जिले के अपने पांच मंडल अध्यक्षों और प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के जिला संयोजक सिद्धार्थ मलैया को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा के निर्देशानुसार की गई इस कार्यवाही के साथ-साथ पूर्व विधायक जयंत मलैया को भी दमोह विधानसभा उपचुनाव के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। 

BJP Action on Malaiya Family and 3 others by Damoh Today on Scribd

आपको बता दे दमोह विधानसभा की बहुचर्चित सीट के नतीजे  आने के बाद बीजेपी को दमोह में बेहद करारी हार झेलनी पड़ी है। इस सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार अजय टंडन ने 17089 वोटों से ज्यादा इस सीट पर शानदार जीत हासिल की। जैसे ही नतीजे सामने आए भाजपा के उम्मीदवार राहुल लोधी (Rahul Lodhi) का गुस्सा फूट पड़ा है और पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए उन्होने कहा कि मुझे पूर्व वित्त मंत्री ओर भाजपा के वरिष्ट नेता जयंत मलैया और उनके परिवार ने हराया है। भाजपा संगठन को ऐसे नेताओं के खिलाफ तुरंत एक्शन लेना चाहिए। राहुल के इस बयान के बाद से भाजपा में भारी खलबली मची हुई थी। 

दमोह उपचुनाव को जीतने के लिए पार्टी के संगठन और सरकार ने पूरा जोर लगाया था उसके बावजूद भी भाजपा के खाते में हार ही आई दमोह से भाजपा के लिए बड़े दावेदार पूर्व मंत्री जयंत मलैया थे और वे विधानसभा उपचुनाव भी लड़ना चाहते थे। मलैया ने राहुल को उम्मीदवार बनाए जाने पर शुरू में नाराजगी भी जताई यहां तक उनके बेटे भी निर्दलीय चुनाव लडने के मूड में थे उन्होंने अपने पक्ष में माहौल बनाने कि पूरी कोशिश कि लेकिन उनके पिता ने उनको समझाइश दी उसके बाद पार्टी के द्वारा भी उनको मना लिया गया इसके बाद चुनाव प्रचार में भी जुट गए। लेकिन बीजेपी को हमेशा से इस बात की आशंका रही कि जयंत मलैया पार्टी उम्मीदवार राहुल लोधी के पक्ष में कितना काम करेंगे।

प्रहलाद पटेल और नरोत्तम मिश्रा ने पार्टी के खिलाफ़ बता चुके है सडयंत्र :

मध्य प्रदेश के भाजपा के कद्दावर नेता एवं केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल एवं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने दमोह विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में भाजपा की हार के लिए  पार्टी की अंदरूनी षडयंत्रकारियों को जिम्मेदार ठहराया था।

दमोह चुनाव परिणाम ने भविष्य की चुनौतियों,षड्यंत्रों औरकार्यप्रणाली में सुधार के स्पष्ट संकेत दिए हैं।हम सभी कार्यकर्ता अपनी परिश्रम की मूलसामर्थ्य और विद्वेषरहित कार्यप्रणाली से इनका समाधान खोजेंगे।भारतीय जनता पार्टी को मतदान और सहयोग करने वाले सभी दमोहवासियों का धन्यवाद @BJP4MP

— Prahlad Singh Patel (@prahladspatel) May 3, 2021

नरोत्तम मिश्रा ने ट्वीट करते हुए कहा था कि हम ‘‘दमोह नहीं हारे हैं हम, छले गए छलछन्दों से। इस बार लड़ाई हारे हैं हम, अपने घर के जयचंदों से। उन्होंने कहा कि दमोह की जीत पर  कांग्रेस ज्यादा ख़ुशी ना मनाए। मिश्रा ने आगे कहा कि मध्य प्रदेश के कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को पूरे देश में कांग्रेस का जो सफाया हुआ है, उस पर भी चिंतन करना चाहिए।

वहीं, केन्द्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने ट्वीट करके साफ़ कहा था कि, ‘‘दमोह चुनाव परिणाम ने भविष्य की चुनौतियों, षड्यंत्रों और कार्यप्रणाली में सुधार के स्पष्ट संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हम सभी कार्यकर्ता अपनी परिश्रम की मूलसामर्थ्य और विद्वेषरहित कार्यप्रणाली से इनका समाधान खोजेंगे। प्रह्लाद पटेल के ट्वीट से अब बात पूरी तरह से स्पष्ट हो जाती है कि उन्हें कमजोर करने के लिए ही दमोह उपचुनाव में पार्टी उम्मीदवार राहुल लोधी को षड्यंत्र के तहत हराया गया।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button