दमोह उपचुनाव: कोरोना के कारण कांग्रेस ने कि बाहरी नेताओं के प्रचार पर रोक लगाने की मांग!

damoh vidhansabha upchunav
पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो साभार: आजतक)

दमोह। दमोह उपचुनाव जीतने के लिए बीजेपी और कांग्रेस के नेता कार्यकर्ता खूब पसीना बहा रहे हैं, नामांकन फार्म जमा करने के बाद बीजेपी और कांग्रेस दोनों जमकर चुनाव प्रचार में लगे हुए हैं। दूसरी ओर ज़िले में बढ़ते कोरोना संक्रमण के आंकड़ों को देखते हुए, बाहरी नेताओं के प्रचार पर रोक लगाने की भी मांग अब उठने लगी है।


पूर्व मंत्री और कांग्रेस नेता पीसी शर्मा ने कोरोना का हवाला देते हुए. दमोह में बाहरी नेताओं के चुनाव प्रचार पर रोक लगाने की मांग की है। पीसी शर्मा ने कहा कि प्रदेश में तेजी से संक्रमण फैल रहा है। दमोह में कोरोना का ज्यादा संक्रमण न फैले इस पर निर्वाचन आयोग और सरकार को फैसला लेना चाहिए। वहीं बाहरी नेताओं का 1 अप्रैल से दमोह में प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए।

पीसी शर्मा ने कहा कोरोना संक्रमण के बीच दमोह सीट का उपचुनाव आम जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ साबित हो सकता है. ऐसे में जरूरी है जिन जिलों में कोरोना का संक्रमण ज्यादा है वहां से दमोह जाने वाले नेताओं की एंट्री पर रोक लगे। यह सभी सियासी दलों और उनके नेताओं के लिए निर्वाचन आयोग अनिवार्य करे।


बीजेपी ने बताया हार का डर:


कांग्रेस नेता के बयान पर बीजेपी के प्रदेश मंत्री रजनीश अग्रवाल ने कहा कांग्रेस में नेताओं का कमी है, उसके ज्यादातर नेता घर बैठे हुए हैं। उपचुनाव के दौरान कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आयोग की गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। ऐसा नहीं है कि उपचुनाव में किसी पार्टी विशेष के नेताओं के पहुंचने पर कोरोना का संक्रमण फैलेगा. उपचुनाव में कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन किया जाएगा, कांग्रेस नेता हार के डर से इस तरीके की बयानबाजी कर रहे हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button