Corona Return: क्या देश में फिर लगेगा लॉकडाउन? केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जारी की नयी गाइडलाइन

home ministry new guidelines

नेशनल डेस्क। देश में एक बार फिर से कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना के बढ़ते नये मामलों से सरकार की चिंता को और भी बढ़ा दिया है। महाराष्ट्र, केरल जैसे राज्यों में रोजाना हजारों की संख्या कोरोना संक्रमण के नये केस सामने आ रहे हैं, जिससे स्थिति लॉकडाउन (Lockdown) जैसी बनती जा रहीं है। 


इधर कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों को देखते हुए केंद्र के गृहमंत्रालय (Home Ministry) ने नयी गाइडलाइन जारी कर दी है. नयी गाइडलाइन (New Guideline) 1 अप्रैल 2021 से लेकर 30 अप्रैल 2021 तक प्रभावी होंगी. गाइडलाइन के अनुसार कोरोना के प्रसार को रोकने के उद्देश्य से राज्यों को स्थिति के आकलन के आधार पर स्थानीय स्तर पर पाबंदियां लगाने की अनुमति दे दी गयी है।


केंद्रीय गृह मंत्रालय की नयी गाइडलाइन के मुताबिक कोरोना टेस्ट, ट्रैक और ट्रीट की रणनीति पर काम करने पर जोर दिया गया है. इसके अलावा टीकाकरण अभियान पर भी फोकस करने पर भी बल दिया गया है। सरकार ने टेस्ट में कमी को लेकर चिंता भी जतायी और सभी राज्यों और केंद्र शासित राज्यों को आदेश दिया है कि आरपीसीआर टेस्ट का आंकड़ा बढ़ाया जाए।


इस गाइडलाइन में कहा गया है कि जब नये कोरोना केस (Corona Case) का पता चले तो उसका समय पर इलाज हो, उसपर कड़ी नजर रखी जाए. कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग के जरिए सभी संपर्क में आने वाले लोगों को क्वारंटीन की जाए. कंटेनमेंट जोन की जानकारी जिला कलेक्टर वेबसाइट पर डालें और इस लिस्ट को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से साझा करें।गाइडलाइन में यह भी स्पष्ट कर दिया गया है कि देश भर में कहीं भी आने-जाने पर कोई पाबंदी नहीं होगी. नयी गाइडलाइन में कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कराने के लिए उचित जुर्माने की भी बात कही गई है।


ये भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में लॉकडाउन को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दिया बयान


गृह मंत्रालय ने जारी नई गाइडलाइन में कहा है कि जिन राज्यों में टीकाकरण की रफ्तार थीमी है, वहां जल्द से जल्द रफ्तार को बढ़ाया जाना चाहिए. सरकार ने कहा कि कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए टीकाकरण (Vaccination) में तेजी लाना भी जरूरी है।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button