रामकृष्ण कुसमरिया (बाबा) ने फ़िर बदला पाला कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थामा

Ramkrishna Kusmaria News : 2018 के विधानसभा चुनावों में पथरिया विधानसभा सीट से टिकट न मिलने से नाराज हुए पूर्व वरिष्ठ भाजपा नेता डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया (Ramkrishna Kusmaria) ने एक बार फिर बीजेपी नेता सिंधिया की मौजूदगी में कुसमरिया (Kushmaria) ने पार्टी की सदस्यता ली है। 

Ramkrishna kusmaria joined bjp again

दमोह | 2018 के विधानसभा चुनावों में पथरिया विधानसभा सीट से टिकट न मिलने से नाराज हुए पूर्व वरिष्ठ भाजपा नेता डॉ. रामकृष्ण कुसमरिया (Ramkrishna Kusmaria) की चाल कामयाब हो गई थी। उन्होेंने बदलना लेने के लिए पथरिया और दमोह विधानसभा सीट से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में जाल फेंका था, ताकि दोनों प्रत्याशियों का नुकसान करके उन्हें जीत के लिए आगे न बढ़ने दे। कुसमरिया अपनी रणनीति में कामयाब भी हो गए थे। इसके बाद उन्होंने कांग्रेस की शरण ले ली थी।

Ramkrishna kusmaria latest news
Ramkrishna kusmaria joined bjp again / Twitter

लेकिन जैसा कि कहा जाता हैं नेता गिरगिट से ज्यादा रंग बदलते इसमें कोई दो राय नहीं है, कुसमरिया (Kushmaria) ने भी वैसा ही किया जैसा राजनीति अक्सर किया जाता है फ़िर से बीजेपी ज्वाइन कर ली है, मध्य प्रदेश में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने करीब 100 दिनों की सरकार चलाने के बाद कैबिनेट का विस्तार किया है। गुरुवार को राज्यपाल आनंदबेन पटेल ने 28 मंत्रियों को पद एंव गोपनीयता की शपथ दिलाई इसके साथ- साथ बीजेपी नेता सिंधिया की मौजूदगी में कुसमरिया (Kushmaria) ने पार्टी की सदस्यता ली है। 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री @vdsharmabjp ,मुख्यमंत्री श्री @ChouhanShivraj एवं राज्यसभा सांसद श्री @JM_Scindia ने आज भाजपा प्रदेश कार्यालय में कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों और सैकड़ों कार्यकर्ताओं को भाजपा की सदस्यता दिलाई। pic.twitter.com/Yaaeea3W5P

— BJP MadhyaPradesh (@BJP4MP) July 2, 2020

ramkrishna kusmaria news
Ramkrishna kusmaria and rahul gandhi / File Photo

आपको बता दें कि पथरिया विधानसभा से खड़े होकर न केवल उन्होंने भाजपा प्रत्याशी लखन पटेल के कोटे से 6105 वोट छीनने के बाद उन्हें हरवा भी दिया था। यदि लखन पटेल को यह वोट मिले होते थे उनकी जीत 2018 के साथ विधानसभा चुनाव में पक्की थी। इतना ही नहीं उन्होंने दूसरा दांव दमोह सीट पर निर्दलीय खड़े होकर खेला था। यहां पर उन्होंने वित्तमंत्री जयंत मलैया को हराने में साजिश रची और कुर्मी समाज के वोट कांग्रेस प्रत्याशी राहुल सिंह के पाले में डलवा दिए थे। इस तरह उन्होंने भाजपा के लिए दमोह और पथरिया दोनों सीटों पर भारी नुकसान पहुंचाया था। कुसमरिया को दमोह से 1265 वोट और पथरिया विधानसभा से 6105 वोट मिले थे। परन्तु दमोह में उनकी जमानत तक जब्त हो गई थी।
MP NEWS  से जुड़ी अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक लाइक और ट्विटर  पर फॉलो करें और हमें  Google समाचार  पर फॉलो करें।
पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button