मध्य प्रदेश में 15 मई तक बढ़ा कोरोना कर्फ्यू, सीएम शिवराज ने विडियो कान्फ्रेस कर दी जानकारी

corona curfew mp extended

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपने वर्च्युअल संबोधन में प्रदेश में कोरोना मरीज़ों का पॉजिटिविटी रेट (Positivity rate) घटने पर तसल्ली ज़ाहिर की साथ ही कहा अभी भी संकट टला नहीं है. सबके सहयोग से ही कोरोना से निपटा जा सकता है। चौहान ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि राज्य में पाबंदियों को बिना किसी ढिलाई के लागू किया जाए। सीएम ने लोगों से शादियां टालने की भी अपील की है। इसके साथ साथ सीएम शिवराज सिंह (CM Shivraj Singh) ने  राज्य में ‘जनता कर्फ्यू’ को 15 मई तक बढ़ाने का फैसला किया है। 

सीएम ने कहा, ”आज मैं आपसे आह्वान कर रहा हूं कि 15 मई तक हम सबकुछ बंद करें। कड़ाई से जनता कर्फ्यू का पालन हो। मैं चाहता हूं आने वाले दिनों में जनजीवन सामान्य हो जाए। इसलिए कुछ दिन हम कड़ाई कर लें।” 

पॉजिटिविटी रेट 25% घटकर 18 प्रतिशत:

सीएम शिवराज (CM Shivraj) ने इस बात पर संतोष जाहिर किया कि अप्रैल माह में जिस तेजी के साथ कोरोना संक्रमण फैला था, अब मई माह की शुरूआत में इस पर काफी नियंत्रण पा लिया गया है। आने वाले दिनों में हमें इस संक्रमण को पूरी तरह समाप्त करने के लिए कार्य करना है। प्रदेश में कोरोना मरीज़ों का पॉजिटिविटी रेट लगातार हमारा गिरता जा रहा है. स्वस्थ होने की दर बढ़ रही है. जो पॉजिटिविटी रेट 25% तक पहुंच गया था वो अब घटकर 18 परसेंट तक आ गया है।

उन्होंने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए सरकार की तरफ से किए जा रहे प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि सरकार चाहती है कि सभी गरीबों को इलाज मुफ्त हो और इसके लिए आयुष्मान योजना के साथ ही एक अन्य योजना पर सरकार कार्य कर रही है। एक दो दिन में यह घोषित हो जाएगी। 

मरीजों को लूटने वाले गिद्ध के समान: 

उन्होंने निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों (Corona Patient) को भारी भरकम बिल थमाने वाले संचालकों को चेताते हुए कहा कि प्रशासन इस पर भी नजर रखे हुए हैं। बेहतर कार्य करने वाले संचालकों को सम्मानित किया जाएगा, लेकिन जो इस विपत्ति के काल में मरीजों को लूट रहे हैं, वे गिद्ध के समान हैं और उनके खिलाफ सरकार भी सख्त कार्रवाई करेगी।

ये भी पढ़े: गरीबों के पास पात्रता पर्ची नहीं तब भी मिलेगा नि:शुल्क राशन, सीएम शिवराज का बड़ा फैसला

तीसरी लहर से निपटने की तैयारियां भी शुरू:

सीएम ने बताया कि राज्य सरकार ने प्रदेश में ऑक्सीजन की कमी (Oxygen Shortage) से निपटने के सारे उपाय कर लिए हैं। 90 से अधिक ऑक्सीजन संयंत्र लगाने की अनुमतियां जारी की गयी हैं। सरकार सिर्फ कोरोना की दूसरी लहर से ही नहीं, बल्कि आने वाले समय में कोरोना की कथित तीसरी लहर (Third Wave) से निपटने की तैयारियां भी शुरू कर रही है।

गांव और कस्बों में हो कोरोना मरीजों की पहचान :

मुख्यमंत्री ने इस बात पर चिंता जाहिर की कि इस बार कोरोना वायरस का संक्रमण गांवों में तक फैल गया है। इस वायरस की चेन की यहीं समाप्त करना होगा और इसके लिए 15 मई तक संपूर्ण मध्यप्रदेश में कोरोना कर्फ्यू (Corona Curfew) रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी जनप्रतिनिधि प्रशासनिक अमले के साथ मिलकर गांव गांव तक पहुंचे और कोरोना मरीजों की पहचान कर उनके घरों को छोटे छोटे केंटोनमेंट क्षेत्र के रूप में बनाए। इसके साथ ही संबंधित मरीज का तत्काल इलाज प्रारंभ किया जाए। यह कार्य सभी गांवों के साथ ही छोटे कस्बों और नगरों में भी किया जाए। ऐसा करने पर हम राज्य में कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़कर इस पर प्रभावी तरीके से काबू पा सकते हैं।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button