बक्सवाहा जंगल बचाने की मुहिम को मिला बॉलीवुड एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा का साथ, कई हस्तियों ने किया ट्वीट

buxwaha forest news

डिजीटल डेस्क। विश्व पर्यावरण दिवस के मौके पर जहां पूरी दुनिया सोशल मिडिया पर प्रकृति को बचाने के बात करती नज़र आई तो वही दूसरी और सोशल मिडिया पर एक धड़ा ऐसा भी था जो वास्तविकता में अपनी धरा की रक्षा के लिए खड़ा नज़र आया। दरासल इन दिनों चिंता व चर्चा का विषय बना बक्सवाहा जंगल की कटाई का मामला दिनों दिन तेज़ी से तूर पकड़ रहा है। बिना किसी राजनैतिक दल और विचारधारा से प्रेरित बक्सवाहा के जंगल को बचाने का अभियान अब केवल आम व्यक्तियों तक सीमित न रह कर बॉलीवुड सेलिब्रिटी, नेताओं और प्रमुखधारा के पत्रकारों तक पहुंच गया है।

पिछ्ले कई दिनों से बक्सवाहा जंगल बचाओ अभियान लगातार जारी है जिसे तेज करने के उद्देश्य से 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर दोपहर 2 बजे ट्विटर पर #SaveBuxwahaForest और India With Buxwaha Forest नाम का ट्रेंड चलाया गया। इन ट्विटर हैशटैग्स ट्रेंड को इस बार देश की कई बड़ी हस्तियों का समर्थन मिला। जिसमें बॉलीवुड एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा से लेकर वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसुन बाजपेई, सावधान इंडिया फैम अभिनेता सुशांत सिंह और 90के दशक की कई लोकप्रिय फिल्मों में अभिनय कर चुकी पूजा बत्रा शाह आदि लोगो का नाम शमिल है।

Let’s make a change by saving Buxwaha forest 🙏 @AdityaBirlaGrp #SaveBuxwahaForest #MadhyaPradesh Government is cutting down 2.15 Lakhs trees for digging diamonds. – Sign the Petition! https://t.co/N2ilTpjI8m via @ChangeOrg_India

— Pooja Batra Shah (@iampoojabatra) June 3, 2021

#SaveBuxwahaForest in MP. Challenge all leaders that put up meaningless tweets for #EnvironmentDay2021.

— TheRichaChadha (@RichaChadha) June 5, 2021

save buxwaha forest

save buxwaha forest news

आपको बता दें कि छतरपुर जिले के बक्सवाहा जंगल में मिले हीरे के विशाल भंडार का अनुमान है हालांकि, हीरे के इस भंडार को पाने के लिए, इस जंगल के मूल्यवान प्राकृतिक संसाधनों, अर्थात् हर्बल पौधों और अन्य सभी पेड़ों को काटना होगा। इसके लिए 382.131 हेक्टेयर जंगल को नष्ट करने की बात कही जा रही है। वनविभाग द्वारा की गई गणना के अनुसार जंगल में 2,15,875 लाख पेड़ है। जिनकी कटाई कर डायमंड की माइनिंग की जानी है जिसका स्थानीय लोग समेत देश प्रदेश के लोग विरोध कर रहे है।

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button