दमोह विधानसभा उपचुनाव में MP BJP दो गुटों में हुई विभाजित

mp bjp split in damoh by election

दमोह। Damoh By Election 2021: मध्य प्रदेश में दमोह विधानसभा क्षेत्र के उपचुनाव के लिए मतदान 17 अप्रैल को शुरू होगा, इसकी आधिकारिक घोषणा चुनाव आयोग (Election Commission) ने मंगलवार को कर दी है। दो मई को चुनाव परिणाम घोषित किया जाएगा। कांग्रेस (Congress) विधायक राहुल लोधी के पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा देने और अक्टूबर 2020 में भाजपा में शामिल होने के बाद दमोह की सीट रिक्त है। 

उपचुनाव की अधिसूचना 23 मार्च को जारी की जाएगी। नामांकन की अंतिम तिथि 30 मार्च होगी जबकि नामांकन की जांच 31 मार्च तक संपन्न होगी। उम्मीदवारी वापस लेने की अंतिम तिथि 3 अप्रैल है जबकि मतदान होगा 17 अप्रैल को और दो मई को मतगणना होगी।

जबकि दमोह उप-चुनावों का मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में मौजूदा शिवराज सिंह चौहान सरकार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा, फिर भी चुनाव दिलचस्प होगा। दमोह उपचुनावों ने भाजपा (Bjp) को दो गुटों में विभाजित कर दिया है और उन्हें एक दूसरे के खिलाफ कर दिया।

इसे भी पढ़ें: दमोह में भाजपा को अपनो से ही मिल रहीं हैं कड़ी चुनौती, रोमांचक होगा मुकाबला

सभी दलबदलुओं के साथ व्यवस्था के अनुसार, भाजपा उन सभी को पार्टी टिकट दे रही है, लेकिन दमोह में, टिकट के लिए मजबूत दावा राज्य के पूर्व वित्तमंत्री जयंत मलैया (Jayant Malaiya) ने किया है। 

मलैया, जो 1990 से छह बार से दमोह (Damoh) जीत रहे थे, पिछले चुनावों में राहुल लोधी से बहुत कम अंतर से हार गए थे। जयंत मलैया के अलावा उनके बेटे सिद्धार्थ मलैया (Sidharth Malaiya) भी टिकट के आकांक्षी हैं। जबकि राहुल लोधी को केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद पटेल, जो दमोह से सांसद हैं, का समर्थन प्राप्त है, भाजपा के भीतर मलैया गुट मांग कर रहा है कि ’व्यवस्था’ को गिरा दिया जाए और पुरानी पार्टी के वफादार को टिकट दिया जाए।

वर्तमान में भाजपा के 126 विधायक हैं, कांग्रेस के 96, बसपा के 2, सपा के 1 और जबकि 230 सदस्यीय विधानसभा में एक सीट रिक्त है जो की दमोह विधानसभा की है।

इसे भी पढ़ें: क्या कांग्रेस “सिद्धार्थ मलैया” को बनायेगी दमोह में उपचुनाव का प्रत्याशी?

पूरी स्टोरी पढ़िए...

संबंधित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button